Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

बाप पुलिस को मिलीबड़ी कामयाबी, दो अंतरराज्यीय चोर गिरोह का पर्दाफाश कर 6 आरोपियों को किया गिरफ्तार

पूछतछ में जोधपुर रेंज में की गई दर्जनों चोरी की वारदाते कबूली, लाखो रूपये के सोने चांदी के जेवरात बरामद, एक ब्रेजा कार भी जब्त Bap News :  ज...

पूछतछ में जोधपुर रेंज में की गई दर्जनों चोरी की वारदाते कबूली, लाखो रूपये के सोने चांदी के जेवरात बरामद, एक ब्रेजा कार भी जब्त

Bap News :  जोधपुर जिले की बाप पुलिस ने बड़ी कार्यवाही करते हुए दो अंतरराज्यीय चोर गिरोह के 6 जनों को गिरफ्तार कर दो बड़े चोर गिरोहों का पर्दाफास किया हैं। पुलिस ने उनके कब्जे से चोरी किए गए सोने चांदी के जेवर जप्त किये है। पुलिस ने चोरों के पास से एक लग्जरी कार भी बरामद की है। पूछताछ में चाेरों ने बीते दस माह में जोधपुर जिले में दर्जनो चोरियों करना भी कबूला है। 


जिला पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण राहुल बारहट ने बताया कि शुक्रवार को बाप पुलिस के बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। बाप पुलिस टीम की सतर्कता की वजह से लाखो रूपयो के जेवरात व गहने चोरो होने से बच गये। बरामद गहनो में ज्यादातर सोने के महिलाओ बड़े आभूषण जैसे आड, बाजूबंद, रखड़ी सेट आदि है।  

शुक्रवार को बाप पुलिस ने एनएच 11 पर नाकाबंदी के दौरान वाहनों की सघन तलाशी करते समय फलोदी की तरफ से आई एक कार को रूकवाकर तलाशी ली। कार में 6 जने मिले। इसके अलावा उसमें भारी मात्रा में सोने व चांदी के आभूषण व गहने मिले। पूछताछ में सभी सकपका गए तथा संतोषजनक जवाब तक नहीं दे पाए। पुलिस ने सख्ती दिखाई तो कार सवारों ने जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर जिले के विभिन्न कस्बो व गांवों से चोरी कर लाना स्वीकार कर लिया। पुलिस ने सभी आभूषण व जेवर सहित कार को जब्त कर उसमें सवार सभी 6 जनों को गिरफ्तार कर लिया। 

इन्हे किया गया गिरफ्तार

मोहन पुत्र जयपाल जाति सांसी, निवासी सिसाई कालीरावण तहसील हासी, सतीश उर्फ मनु उर्फ मोनु पुत्र प्रेमसिह जाति सासी, निवासी राजथल तहसील नारनोद, अनिकेत पुत्र शमशेर जाति सांसी, निवासी कलायत, धीरा पुत्र बजा जाति सांसी, निवासी किनाना थाना जिन्द, ओमप्रकाश उर्फ काशी पुत्रउ चतरू जाति सांसी, निवासी कनो थाना अगरवा, चन्द्रभान पुत्र रणजीत जाति सांसी, निवासी बहलवा को गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी आरोपी हरियाणा प्रांत के है। गिरफ्तार किये गए सभी आरोपी दो बड़े चोर गैंगों के सदस्य है।

चलती बस में चोरी कर सूटकेश व बैग उसी जगह रख देते, ज्यादातर पीड़ित घर पहुंचने पर बंद सूटकेश या बैग उसी समय नहीं खोलती, ऐसे में बाद में पता चलता तो परिवार के अन्य सदस्यो पर करते है शक 

एक गैंग में करीब 6-7 सदस्य हरियाणा से रवाना होकर बीकानेर, बाप व फलोदी के रास्ते रामदेवरा पहुचते है। वंहा पर धर्मशाला में कमरा किराये पर लेते है। दुसरे दिन सुबह जैसलमेर में रामदेवरा, पोकरण, फतेहगढ, फलसुण्ड, नाचना, बाडमेर, चौहटन रोड, बायतु, शिव, तथा जोधपुर में फलोदी. देचु, बालेसर, शेरगढ़, ओसियां के आस पास के क्षेत्र में चलती बस के अन्दर भीड़ मे सुटकेस या थैलो मे रखे गहनों व रुपयों को चुरा लेते है। आरेापी इतने शातिर है कि वे पहले बस स्टैण्ड पर जाकर सभी अलग-अलग बैठकर गहने व सुटकेस वाली महिलाओ की रैकी करते है। फिर जिस बस में सुटकेस या थैला लिये हुए महिला चढती है, उसी बस में वे सभी झुंड बनाकर बस में चढ़ जाते है। जहां महिला का सुटकेस या थैला रखा होता है, उसके इर्द-गिर्द सीटो पर बैठ जाते है। यदि बस में सीट खाली नही हो तो गैंग में शामिल बुजुर्ग सदस्यों का पैर दर्द होने या तबीयत खराब होने का बहाना बनाकर सीट ले लेते है। मुख्य सरगना चद्दर या कंबल ओढ़े रहता है तथा वह अपने पास मास्टर चाबियां रखता है। गैग के अन्य सदस्य सुटकेस या थैले के पास भीड कर धीरे धीरे उसे मुख्य सदस्य के पास पंहुचा देते है। जिसे मुख्य सरगना अपने पैरो के बीच लेकर मास्टर चाबी से सुटकेस खोल गहने व रुपये निकाल लेते है। फिर थैला या सुटकेस को पुन: बन्द कर यात्री के पास उसी अवस्था मे खिसका देते है। चोरी करने के बाद गैग के सभी सदस्य कोई बहाना बनाकर बस से उतर जाते है। कई बार बस स्टैण्ड पर खडी बस से यात्री अपना सामान रखकर किसी काम के लिए नीचे उतरता है, तो पहले से ही बस में बैठे गैंग के सदस्य चोरी कर बस रवाना होने से पहले ही नीचे उतर चलते बनते है। 

उक्त गैग के सदस्य ज्यादातर रामदेवरा में आई धर्मशाला मे ही रुकते है। इसका मुख्य कारण वंहा पर जातक आते जाते रहते है। इसलिए कोई इन पर शक भी नहीं करता है। पुलिस ने बताया कि चोर गैंग इस तरह की वारदाते चलती बस में गत चार-पांच सालों से करते आ रहे है। सुटकेस को वापस बन्द कर उसी जगह रखने की वजह से चोरी होने का अंदेशा ही नही रहता है। इस कारण पीड़ित भी ज्यादातर घर में परिवार वालो पर शक जाहिर कर थानों में मुकदमे तक दर्ज नही करवाते है।


गैग नम्बर 1 के सदस्य

01. सतपाल पुत्र महेन्द्र उर्फ इन्द्र जाति सांसी निवासी बलहंबा जिला रोहतक हरियाणा

02. मोहन पुत्र जयपाल जाति सांसी उम्र 24 साल निवासी सिसाई कालीरावण तहसील हासी थाना हासी जिला हिसार हरियाणा बताया

03 . सतीश उर्फ मनु उर्फ मोनु पुत्र प्रेमसिह जाति सासी उम्र 30 साल निवासी राजथल तहसील नारनोद थाना नारनोद जिला हिसार हरियाणा

04. अनिकेत पुत्र शमशेर जाति सासी उम्र 20 साल निवासी कलायत थाना कलायत जिला कैथल हरियाणा

05. धीरा पुत्र बजा जाति सांसी उम्र 58 साल निवासी किनाना थाना जिन्द जिला जिन्द हरियाणा

06. ओमप्रकाश उर्फ काशी पुत्र चतरू जाति सांसी उम्र 45 साल निवासी कनो थाना अगरया जिला हिसार हाल महावीर कॉलोनी हिसार

07. अजीत उर्फ जीतु जाति सासी निवासी दिल्ली।

08. विनोद उर्फ बोधा सांसी।

गैग नम्बर के सदस्य

01. जयवीर पुत्र गणपत जाति सांसी निवासी बलया थाना महम जिला रोहतक हरियाणा

02. चन्द्रभान पुत्र रणजीत जाति सांसी उम्र 56 साल निवासी बहलया थाना बरवाला जिला हिसार हरियाणा

03. राजा पुत्र लालु जाति सांसी निवासी महम उजालानगर

04. ऋषि लोहार निवासी उजालानगर

05. राजा किरोटी.

06. रोहताश सांसी निवासी महम जिला रोहतक हरियाणा।

गिरोह द्वारा स्वीकार की गई वारदाते.
दिनांक 06.02.2020 से 11.02.2020 तक

1. फलौदी- एक बस से फलौदी से एका चौराहा पुलिया के मध्य सुटकेस से जैवरात व नगदी भुराना स्वीकार किया।

2 देचू एक बस देषु से रामदेवरा बाईपास के बीच सुटकेस मे से जैवरात चुराना स्वीकार किया।

3 फलसूड - बस स्टैण्ड के चौक से रामदेवरा रोड पर बस स्टैण्ड से करीब 10 किमी पर जैवरात चुराना स्वीकार किया।

4. पोकरण :- पोकरण से रामदेवरा की तरफ जाने वाली बस से 7-8 किमी पर जैवरात चुराना स्वीकार किया तथा रामदेवरा पुलिया के पास उतर जाना बताया ।

5. बाडमेर - बाउमेर बस स्टैण्ड से शिय की तरफ जाने वाली बस से जैयरात चुराना स्वीकार किया 

दिनांक 18.03.2020 से 20.03.2020 तक

6 दिनांक 19.08.2000 को फलोदी, रामदेवरा व पोकरण के आस पास जेवरात चुराना, स्थान याद नही है। 

दिनांक 29.10.2020 से 31.10.2020 तक

7. फलौदी :- एक बस से फलौदी से एका चौराहा पुलिया के मध्य सुटकेस से जैवरात व नगदी चुराना स्वीकार किया।

8 फलसुङ - फलसुण्ड से बाडमेर की तरफ जाने वाली बस में एक महिला व लडका के सुटकेस मे से जैवरात चुराना स्वीकार किया ।

9 देचु- देवु से पोकरण की तरफ जाने वाली बस से अटैची में से जैवरात चुराना स्वीकार किया ।

दिनांक 24.11.2020 से आज तक

10. फलौदी :- फलौदी से रामदेवरा की ओर जा रही एक सफेद बस से एक सुटकेस मे से जैवरात चुराना स्वीकार किया।

11. शिवः- शिय से चोहटन की तरफ जाने वाली बस में करीब 10-15 किमी दुरी पर चोहटन चौराहा से दो महिलाओ व एक बया के सुटकेस मे से जैवरात चुराना स्वीकार किया।

12, फलौदी : फलौदी से रामदेवरा की तरफ जाने वाली छोटी बस में से दोनो गैगो द्वारा अटैची मे से जैदरात पुराना स्वीकार किया जिस गहने को दोनो गैगो द्वारा आधा-आधा बंटवारा करना स्वीकार किया ।

13. बालेसर - बालेसर से देवु की तरफ जाने वाली बस में से बालेसर से करीब 10 किमी की दुरी पर सुटकेस में से जैवरात चुराना स्वीकार किया।

इसके अलावा मुलजिमानो द्वारा पिछले चार-पांच साल से गोगामेडी मेला हनुमानगढ , सालासर बालाजी चुरू, रामदेवरा मेला जैसलमेर एवं अन्य स्थानो पर बसो मे चोरी की और कई वारदाते करना स्वीकार किया है।

कार्यवाही टीम-

थानाधिकारी हरिसिंह राजपुरोहित, कांस्टेबल गणेश, महीपाल, ओमप्रकाश. कमलेश, ओपाराम, प्रकाश, मुलाराम, तकनीकी सहयोग देवाराम कांस्टेबल डीएसटी को पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण द्वारा पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

No comments