Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT


 

दुष्कर्म की नियत से अपहरण करने वाले दोनों दरिंदे गिरफ्तार

मामला दर्ज होने के बाद दो दिन में बाप पुलिस ने की कार्यवाही, एक आरोपी को जैसलमेर के धाेरो से किया दस्तयाब Bap News :  बाप पुलिस ने 7 वर्षीय ...

मामला दर्ज होने के बाद दो दिन में बाप पुलिस ने की कार्यवाही, एक आरोपी को जैसलमेर के धाेरो से किया दस्तयाब

Bap News : बाप पुलिस ने 7 वर्षीय मासूम का दुर्ष्कम करने की नियत से अपहरण करने व बंधक बनाकर छेड़खानी करने के मामले में दोनो दरिंदों को गिरफ्तार कर लिया हैं। स्थानीय पुलिस ने मामला दर्ज हाेने के बाद 2 दिन में दोनो अारोपियों को सलाखों के पीछे भेज दिया। इसमें एक आराेपी को गिरफ्तार करने में पुलिस को जैसलमेर के रेतीले धोरो में पांच किमी तक पैदल चलना पड़ा। 

जिला पुलिस अधीक्षक राहुल बारहट ने बताया कि घटना की गंभीरता को देखते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक फलोदी दीपक कुमार शर्मा व वृताधिकारी फलोदी पारस सोनी के निकट सुपरविजन में बाप थानाधिकारी हरिसिह राजपुरोहित नेतृत्व में अलग अलग टीमें गठित की गई। टीम ने तकनीकी संसाधनों व आसुचना के आधार पर दोनो आरोपियों को पकड़ने के लिए टेकरा, लवारकी, रामदेवरा, नाचना, फलोदी, पोकरण वगैरा हर संभावित स्थानों पर दबिश दी। पुलिस ने एक आरोपी जेठाराम पुत्र कल्याणाराम उर्फ केवलराम जाति मेघवाल उम्र 23 साल निवासी टेकरा पुलिस थाना बाप को जैसलमेर के आसकंद्रा से तथा दुसरे आरोपी हीराराम पुत्र बुधाराम जाति मेघवाल निवासी टेकरा ( बाप) को टेकरा के पास से दस्तयाब कर लिया। आसकंद्रा में पुलिस को रतीले धोरो में आरेापी तक पहुंचने में काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। पुछताछ के बाद दोनो को गिरफ्तार कर लिया। कार्यवाही टीम मंे थानाधिकारी हरिसिह राजपुरोहित, एएसआई नरेन्द्रसिंह, कांस्टेबल कमलेश, ओपाराम, दुर्गसिंह, गणेश, भगवानाराम, पुरखाराम की अहम भुमिका रही। 

यह था मामला 

 21 अक्टुबर को पीड़िता के मां ने लिखित रिपोर्ट पेश कर बताया कि दिनांक 20 अक्टुबर की शाम के लगभग 6 बजे उसकी 7 वर्षीय बेटी गांव में बने मन्दिर के पास अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी। उस दौरान जेठाराम पुत्र केवलराम मेघवाल व हीराराम पुत्र बुधाराम निवासी टेकरा उसकी बेटी को बालात्कार की नियत से जबरन उठाकर जेठाराम के घर ले गए। वहां पर खेल रहे अन्य बच्चों ने उसे बताया तो वह कुछ लोगों के साथ उसके घर गए। दरवाजा तोड़ा तो हीराराम हाथ में चाकू था तथा वह मासूम का गला दबाए बैठा था। दरवाजा तोड़ने के बाद दोनो वंहा से भाग गए।

शातिर प्रवृति के आदतन अपराधी

थानाधिकारी राजपुरोहित ने बताया कि आरोपी बहुत ही शातिर प्रवृति के आदतन अपराधी थे। दोनों को पकड़ने की कार्यवाही योजना में पुलिस किसी भी प्रकार की चूक नहीं करना चाहती थी। इसलिए पुलिस बहुत ही सतर्कता के साथ योजनाबद्ध तरीके से दोनों तक पहुंची। उन्होने बताया कि जेठाराम पूर्व में भी एक दर्ज प्रकरण में घटना के तीन माह बाद बड़ी मशक्कत से पुलिस के हत्थे चढ़ा था।

No comments