Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

नियंत्रण में नहीं आ रही टिड्डियां, शनिवार को भी कई गांवो में रहा टिड्डियों का आतंक

Bap New s:   बाप क्षेत्र में टिड्डियां दूसरे दिन शनिवार को डेरा जमाए रही। जिससे साफ जाहिर है कि टिड्डी नियंत्रण विभाग टिड्डियों के नियंत्रण...

Bap News:  बाप क्षेत्र में टिड्डियां दूसरे दिन शनिवार को डेरा जमाए रही। जिससे साफ जाहिर है कि टिड्डी नियंत्रण विभाग टिड्डियों के नियंत्रण में नाकाम साबित हो रहा हैं। वहीं किसानों का आरोप है कि सूचना के बाद कभी कभार ही टिड्डी नियंत्रण विभाग पहुंच पा रहा हैं। 


शनिवार को राणेरी ग्राम पंचायत के सोनलपुरा व आसपास के क्षेत्र में बड़ी तादाद में टिड्डियां देखी गई। भारतीय किसान संघ जिला राजस्व प्रभारी भंवरलाल खिलेरी ने बताया कि बीते साल से बाप क्षेत्र में टिड्डियां बहुत ज्याद ही आ रही हैं। जिससे किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ता है। खिलेरी ने बताया कि इस समय किसानों ने खेतों में कपास बोया है। टिड्डिया कपास सहित पशुओं के चारे को चट कर रही है। किसानों को चिंता हैं की खरीफ फसल की बुआई का समय आ रहा हैं, ऐसे में समय रहते टिड्डियांे पर नियंत्रण नहीं पाया गया तो वे खेतो को बर्बाद कर देगी।

खिलेरी सहित किसानों ने आराेप लगाया कि टिड्डी नियन्त्रण दल केवल दिखावा हैं। विभाग के पास पास कुल तीन या चार कैंपर गाड़ी ही है। इन्ही गाड़ियों पर दवाई छिड़काव का फव्हारा 6 फिट ऊंचाई पर लगाया हुआ हैं। यह फव्हारा जमीन पर बैठी टिड्डियो को ही मार सकता हैं। पेड़ों पर बैठी टिड्डीयाें तक नहीं पहुंचता है। दिन में टिड्डियां उड़ती रहती हैं।  जब रात में ज्यादारतर पेड़ों पर ही पड़ाव लेती हैं। पेड़ों की ऊंचाई 10 से 25 फुट होती है। नियन्त्रण दल के पास ऊंचाई तक छिड़काव का कोई साधन नहीं हैं।

केवल दिखावे के विभागीय टीम इधर उधर आकर चली जाती हैंं। खिलेरी ने बताया कि सूचना देने के बाद भी काफी देर से नियन्त्रण दल कभी कभार ही मौके पर पहुंचता हैं। लेट लतीफी से जब विभागीय टीम पहुंचती है, तब तक टिड्डियां उड़ जाती है। खिलेरी मांग करते हुए कहा कि टिड्डी नियंत्रण दल को टुकड़ों में अलग अलग टीम रखनी चाहिए, जो तुरंत तैयार रहे। किसानों को भी छिड़काव उपलब्ध करवाना चाहिए जिससे किसान भी छिड़काव कर सके। खिलेरी ने इस संबध में उपखंड प्रशासन को भी अवगत करवाया हैं। 


No comments