Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

शराब के लिए नही दिए पैसे, तो पहले पीटा, फिर कर लिया अपहरण

दो दिन बाद भी पीड़ित का नहीं चला पता, नामजन अरोपियो ने पूछताछ में अपहरण करने से कर दिया मना, पुलिस जांच में जुटी बाप न्यूज़ | बारू गांव में एक...

दो दिन बाद भी पीड़ित का नहीं चला पता, नामजन अरोपियो ने पूछताछ में अपहरण करने से कर दिया मना, पुलिस जांच में जुटी

बाप न्यूज़ | बारू गांव में एक किसान से कुछ लोगो ने शराब के लिए पैसे मांगे। किसान ने दिये नहीं तो आरोपियों ने पहले उसे पीटा फिर उसका अपहरण कर लिया। घटना के बाद दो दिन बीत जाने के बाद भी किसान का पता नहीं है। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने नामजद आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की, लेकिन आरोपियों ने अपहरण करने से मना कर दिया। बहरहाल बाप पुलिस मामले की जांच कर रही है। 

पालू पत्नी ओमप्रकाश विश्नोई निवासी तेजो की ढाणी, भलीसर धोरीमन्ना (बाड़मेर) ने अपने देवर मनोज कुमार पुत्र सदराम के साथ बाप थाने में उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज करवाई कि राजू पुत्र गोरधन जाति विश्नोई निवासी भूणियां हाल बारू में कृषि नलकुप है। उसके पति ने राजू का नलकुप कृषि कार्य के लिए इजारे पर ले रखा है। वह अपने परिवार सहित नलकूप पर ही रहते है। 20 फरवरी 2021 को रात्रि आठ बजे उसका पति ओमप्रकाश कृषि हुए पर बने झौंपे में बैठा था। इस दरमियान बाबूसिंह पुत्र रिड़मलसिंह, ओमप्रकाश पुत्र रिड़मलसिंह, भाखरसिंह पुत्र वाकसिंह, घेवरसिंह पुत्र बलवंतसिंह वगैरा आए तथा अनाधिकृत रूप से झौंपे में घुस गए। चारो ने उसके पति ओमप्रकाश को गालियां दी, फिर शराब के लिए पैसे मांगे। शराब के लिए पैसे नहीं दिये तो चोरो ने थापों व मुक्को से उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। िचखने चिल्लाने पर उसके देवर राजू दौड़ कर वंहा गए। बीच बचाव कर छुड़ाने का प्रयास, लेकिन सफल नहीं हो सके। फिर आरोपी जबरदस्ती उसके पति को गाड़ी में डालकर ले गए।

मामला सामने आते ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक फलोदी दीपक कुमार शर्मा ने बारू पहुंच मौका देखा। साथ ही घटना के हर पहलू पर आस पास के लोगों से जानकारी ली।   

थानाधिकारी हरिसिंह राजपुरोहित ने बताया कि नामजन चारो आरोपी बाबूसिंह, ओमप्रकाश, भाखरसिंह व घेवरसिंह को दस्तयाब कर पूछताछ की गई। पूछताछ में बताया कि उन्होने अपहरण नहीं किया है। उधर, पीड़ित के परिजनों ने बताया कि सोमवार तक ओमप्रकाश का पता नहीं चल पाया था। बाप पुलिस वास्तविकता व गुत्थी सुलझाने में लगी है।

No comments