Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT


 

फलोदी में अवैध शराब के ठेको से परेशान नागरिको ने दिया एमडीएम कार्यालय के आगे धरना

Bap New s:  प्रदेश के  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले  के उपखंड मुख्यालय फलोदी में उनके निर्देशों की जमकर धज्जिया उड़ाई जा रही है। नगर प...

Bap News:  प्रदेश के  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के गृह जिले  के उपखंड मुख्यालय फलोदी में उनके निर्देशों की जमकर धज्जिया उड़ाई जा रही है। नगर पालिका क्षेत्र के विभिन्न गली मौहल्लों में अवैध शराब की खुली ब्रांचो में खुले आम शराब बिक रही है। जिसके चलते मौहल्लेवासियों को परेशानियों से रूबरू होना पड़ रहा है। नागरिकों ने बताया कि इसको लेकर स्थानीय प्रशासन, पुलिस प्रशासन तथा आबकारी विभाग को दर्जनो बार अवगत करवाया, किंतु इन ब्रांचो पर को लेकर कोई कार्यवाही नहीं हुई। यही कारण है कि इन ब्रांचो में आज भी शराब की अवैध बिक्री जारी है। 
शिकायत के बाद भी कार्यवाही नहीं होते देख मंगलवार को आखिर नागरिक आंदोलन पर उतर गए। 
 मंगलवार को नागरिक एडीएम कार्यालय फलोदी पहुंचे एवं धरने पर बैठ गये। धरने की सूचना मिलते ही अतिरिक्त जिला कलक्टर फलोदी हाकम खान, पुलिस उप अधीक्षक पारस सोनी एवं आबकारी सीआई शेरसिंह ने धरने पर बैठे लोगों से बातचीत की तथा अवैध ब्रांचों के खिलाफ कार्यवाही का ठोस आश्वासन दिया तब धरना समाप्त किया गया। 

नागरिकों ने सुनाई आबकारी सीआई को खरी खरी :-
धरने के दौरान आबकारी सीआई शेरसिंह के गैर जिम्मेवाराना व्यवहार पर धरनार्थियों ने एडीएम एवं डीवाईएसपी की मौजूदगी में उन्हे खरी-खरी सुनाई। धरने पर बैठे नागरिकों ने बताया कि उनके मौहल्लों में संबधित विभागों की शह पर खुली ब्रांचों पर खुले आम अवैध शराब बिक रही है। सूचना देने के बावजूद आबकारी एवं पुलिस विभाग उनके खिलाफ कार्यवाही नही कर रहा हैं।  जिसके चलते उनका जीना हराम हो गया है। नागरिकोें ने मंगलवार को मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, पु्लिस महानिदेशक, जिला कलक्टर जोधपुर,  जिला आबकारी अधिकारी को ज्ञापन भेेजकर विभिन्न गली मौहल्लों में ब्रांचो पर बिक रही शराब की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की है। नागरिकों ने ज्ञापन में बताया कि अगर ब्रांचों पर बिक रही शराब की बिक्री पर रोक नही लगाई गई तो नागरिकों को मजबूरन अनिश्चितकालीन धरने पर बैठना पड़ेगा।

शिकायत के बाद भी मौन अधिकारी
नागरिकों ने बताया कि फलोदी कस्बे के वार्ड नम्बर 24 में मलार चौराहे से तेलियों के मदरसे की तरफ जाने वाली सड़क पर तथा वार्ड नम्बर 25 में उच्च प्राथमिक विद्यालय गौशाला के पीछे की तरफ 2 जगह अवैध शराब की बिक्री लम्बे समय से चल रही है। स्थानीय नागरिक एवं श्रमिक नेता नखताराम गर्ग, राजेन्द्र कुमार, श्रवण चौहान, श्रमिक नेता जयगोपाल, गणपत चौहान, चंदन कुमार मेघवाल, श्रवण कुमार, गोरधन जयपाल, अशोक कुमार मेघवाल,  भंवरलाल, मांगीलाल सैन, बंशीलाल, सुखदेव, श्रवण कुमार लीलड़,  इलाहीबक्स, मुख्तयार अली, श्याम देवड़ा आदि ने बताया कि उनके द्वारा दर्जनो बार लिखित एवं मोबाईल पर स्थानीय पुलिस प्रशासन, प्रशासनिक अधिकारियों एवं आबकारी विभाग के अधिकारियों को अवगत करवाया गया है, लेकिन आज तक संबधित विभागों ने शराब की ब्रांचों के खिलाफ कोई कार्यवाही नही की है।

16 से 18 घंटे तक खुली रहती है शराब की अवैध ब्रांचे
 नागरिकों ने बताया कि इन अवैध ब्राचों पर 16 से 18 घंटे तक लगातार अवैध शराब की बिक्री होती रहती है। जिसके कारण वंहा दिन भर शराबियों, स्मैकियों एवं जुआरियों का जमावड़ा इस क्षेत्र में लगा रहता है।  घरों से बहन-बेटियों का निकलना मुश्किल हो गया है। अवैध ब्राचों के चलते इस क्षेत्र में चोरी, बलात्कार एवं मारपीट की घटनाये निरंतर होती रहती हैं। पिछले दिनों गौशाला स्कूल के पीछे एक नाबालिग बालिका के साथ दुष्कर्म का मामला घटित हुआ था। फरवरी माह में चोरी की 3-4 वारदाते भी इस क्षेत्र में लगातार हुई थी। इस क्षेत्र में दिन भर शराबियों की आवाजाही के चलते मौहल्लेवासियों का जीना हराम हो गया है। 

आरोप - मासिक बंधी के सहारे चलती है शराब की अवैध ब्रांचे:-
विश्वस्त सूत्रों ने बताया कि फलोदी कस्बे की विभिन्न कच्ची बस्तियों एवं बाहरी क्षेत्रों में एक दर्जन से ज्यादा ब्रांचें चल रही है जो कानूनन अवैध है। इन ब्रांच संचालन करने वालों का नेटवर्क बहुत ही मजबूत है। आबकरी विभाग में इनकी ऊपर तक पहुंच होने के चलते किसी भी तरह की शिकायत पर इनके खिलाफ कोई कार्यवाही नही होती है।  मासिक बंधी के सहारे इनका खेल निरंतर चलता रहता है। लम्बे समय तक कार्यवाही नही होने पर पीड़ित लोग थक हार कर शिकायत करना बंद कर देते है।वार्ड नम्बर 24 में अवैध ठेके पर बैठै शराबियों ने पिछले दिनों नखताराम गर्ग के घर पर पथराव किया तथा महिला एवं बच्चों के साथ गाली-गलौच की थी। जिसकी रिपोर्ट फलोदी पुलिस थाने में देने के बावजूद आज तक आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की गई है। 

इनका कहना है :-
स्थानीय नागरिकों द्वारा अवैध शराब की बिक्री के संबंध में कई बार ज्ञापन दिये गये है। स्थानीय आबकारी विभाग के अधिकारियों का रवैया चिंताजनक है। मंगलवार को नागरिकों द्वारा दिये गये धरने एवं ज्ञापन के संबंध में आबकारी विभाग के उच्चाधिकारियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत करवाया गया है। 
हाकम खान - एडीएम फलोदी।
हमारे पास स्टाॅफ एवं संसाधनों की कमी है। सूचना मिलने पर अगर अवैध शराब बरामद होती है तो कार्यवाही की जायेगी। 
शेरसिंह, आबकारी थानाधिकारी फलोदी।



फलाेदी से अशोक कुमार मेघवाल की रिपोर्ट

No comments