Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

प्रशासनिक कौशलता की मिसाल : एडीएम खान एवं एसडीएम आहुजा

Bap News:  कोरोना वायरस से बचाव के लिये केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा लागू किये गये लाॅकडाउन का तीसरा चरण सोमवार से शुरू हो गया है। लाॅकडाउ...

Bap News: कोरोना वायरस से बचाव के लिये केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा लागू किये गये लाॅकडाउन का तीसरा चरण सोमवार से शुरू हो गया है। लाॅकडाउन अवधि में सारी प्रशासनिक व्यवस्थाओं को चाक- चौबंद रखना तथा कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहे इसी उद्देश्य को लेकर अतिरिक्त जिला कलक्टर फलोदी हाकम खान तथा उप जिला कलक्टर फलोदी यशपाल आहुजा पिछले 41 दिनों से दिन-रात अपनी-अपनी टीम के साथ माॅनिटरिंग कार्यो में जुटे हुए है। पिछले डेढ माह से इन्होंने एक दिन का भी अवकाश नही लिया। तथा छुट्टी के दिन भी ऑफिस तथा फील्ड में निरंतर सक्रिय रहते है। 
एडीएम फलोदी हाकम खान:-
अलवर जिले के मूल निवासी एडीएम हाकम खान वर्ष 2011 बैच के वरिष्ठ आरएएस अधिकारी है। खान 9 दिसम्बर 2019 से फलोदी एडीएम के पद पर पदस्थापित है। एडीएम के तौर वे एसडीएम बाप, लोहावट तथा फलोदी सहित तहसीलदार फलोदी, बाप, लोहावट, देचू तथा बापिणी एंव नायब तहसीलदार शेखासर, घंटियाली, मतोड़ा, आऊ तथा सेतरावा के साथ प्रशासनिक सामंजस्य स्थापित कर लाॅकडाउन अवधि में सराहनीय कार्य कर रहे है। उन्होंने बाप क्षेत्र में कार्यरत सोलर कंपनियों को प्रोत्साहित कर खाधान सामग्री के 800 पैकेट जरूरतमंद परिवारों को उपलब्ध करवाये है। 

बाप में गरीबों के लिये आटे की कमी होने पर फलोदी से 20 क्विंटल गेहूं भिजवाकर उनकी मदद की। एडीएम के रूप में वे सभी बीडीओ, सीबीईओ, पीईईओ, बीसीएमएचओ, एएसपी, डिप्टी एसपी तथा सभी थानाधिकारियों से भी निरंतर सम्पर्क में रहते हुए उनको लगातार बेहतरीन कार्यो के लिये माॅटिवेट करते रहते है। उन्होंने बताया कि लाॅकडाउन अवधि में सभी अधीनस्थ अधिकारियों से सम्पर्क बनाये रखने तथा कार्यो की निगरानी के लिये व्हाट्स एप ग्रुप बहुत ही मददगार साबित हो रहे है। 

इन ग्रुप्स में सभी विभागों के उच्चाधिकारियों को जोड़ा हुआ है। एडीएम हाकम खान को अपनी 90 वर्षीय मां से मिले हुये तीन माह हो चुके है। उन्होंने लाॅकडाउन अवधि में पत्नि तथा बच्चों को फलोदी बुला लिया था। लाॅकडाउन अवधि में अच्छा कार्य करने वाले सभी कार्मिकों को प्रोत्साहित किया तो समय पर राज कार्य नही करने पर एक एएनएम तथा बीएलओ को नोटिस भी जारी किया है। 

फलोदी, बाप, लोहावट तथा देचू में ठहरे हजारों अप्रवासी मजदूरों की सकुशल वापसी करवाई तथा उनके लिये भोजन की व्यवस्था करवाने के लिये क्षेत्र के भामाशाहों को लगातार प्रोत्साहित किया। लाॅकडाउन अवधि में फलोदी शहर का भी आप लगातार राउंड लेकर व्यवस्थाओं की निगरानी करते रहते है। एडीएम ने बताया कि लाॅकडाउन के तीसरे चरण में अब फलोदी, बाप तथा लोहावट उपखंड में हजारो लोग विभिन्न राज्यो से आने शुरू हो गये है। इसलिए सभी अधिकारियों-कर्मचारियों तथा जन प्रतिनिधियों को ज्यादा सजग रहने की जरूरत है, ताकि कोरोना वायरस से बचाव हो सके।

एसडीएम फलोदी यशपाल आहुजा:-
बीकानेर जिले के मूल निवासी एसडीएम यशपाल आहुजा वर्ष- 2012 के बैच के युवा आरएएस अधिकारी है। आहुजा 3 अक्टूबर 2019 से एसडीएम फलोदी के पद पर कार्यरत है।इनकी पत्नि तथा बच्चे बीकानेर में ही रहते है। लाॅकडाउन शुरू होते ही पत्नि तथा बच्चों को फलोदी बुला लिया था।आहुजा पिछले डेढ माह से लगातार लाॅकडाउन कार्यो की निगरानी कर रहे है। तहसीलदार फलोदी, लोहावट, विकास अधिकारी फलोदी एवं लोहावट, बीसीएमएचओ,
ईओ नगर पालिका फलोदी, डिप्टी एसपी, सीबीईओ, पीईईओ आदि के साथ सामंजस्य स्थापित कर बेहतरीन कार्य कर रहे है। आहुजा की देखरेख में आईजीएनपी स्कूल तथा राईका बाग में हजारो बाहरी श्रमिकों के लिये आश्रय स्थलों का सफलतापूर्वक संचालन किया गया तथा बाद में राज्य सरकार के आदेश पर इन सभी श्रमिकों को सकुशल उनके राज्यों की सीमा तक बसों के माध्यम से छोडा गया है। 

सभी श्रमिकों के लिये आश्रय स्थल पर भोजन, पानी, दवाई आदि की व्यवस्था करवाने में एसडीएम आहुजा की प्रमुख भूमिका रही है।एसडीएम यशपाल आहुजा अपनी सरकारी गाडी में सदैव खाधान सामग्री के पैकेट तैयार रखते है, जो जरूरतमंदो को वितरित करते रहते है। वे क्षेत्र के भामाशाहों को भी लगातार सेवा कार्यो  के लिये प्रोत्साहित करते रहते है। इन्होंने स्वयं मौके पर जाकर स्वयं सेवी संगठनों तथा सेवाभावी नागरिकों की हौसला अफजाई की है। मेडिकल सहित अन्य आवश्यकता वाले लोगों को वाहनों की तुरंत ऑनलाइन अनुमति देकर मानवीय संवेदनाओं का भी बेहतरीन परिचय दे रहे है। आवश्यकता होने पर फलोदी में पुलिस टीम को साथ लेकर खुद भी वाहनों की चैकिंग करते रहते है। लोगों को घरों में ही रहने के लिये समझा रहे है। 

एसडीएम आहुजा ने बताया कि सभी अधिकारियों- कर्मचारियों तथा जन प्रतिनिधियों के सहयोग से अभी तक तो हमारे क्षेत्र में कोरोना का एक भी पाॅजिटिव मरीज सामने नही आया है। लेकिन अब हम सभी को और भी ज्यादा सावधानी बरतनी होगी क्योंकि अब इस क्षेत्र में महाराष्ट्र, गुजरात सहित विभिन्न राज्यों के हजारो बाहरी श्रमिक तथा लोगों का आना शुरू हो गया है। एक अनुमान के मुताबिक इस क्षेत्र में करीब 15 हजार लोगो के आने की संभावना है। फलोदी एसडीएम यशपाल आहुजा वर्तमान में एसडीएम लोहावट, एसीएम फलोदी तथा कृषि मंडी प्रशासक फलोदी का भी अतिरिक्त कार्यभार कार्य देख रहे है।

अशोक कुमार मेघवाल, फलोदी की रिपोर्ट

No comments