Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

अपहरण कर 20 लाख की फिरोती मांगी, नही देने पर दी मारने की धमकी, मामले का 10 घंटे में पर्दाफाश, आरोपी गिरफ्तार

आरोपी हुकमाराम जाट पुनासर आईसीआईसीआई बैंक में कस्टमर कांउसलर लगा हुआ है। स्वयं को लक्जरी लाईफ स्टाईल मैटेंन करने के लिये रूपयो की आवश्यकत...


आरोपी हुकमाराम जाट पुनासर आईसीआईसीआई बैंक में कस्टमर कांउसलर लगा हुआ है। स्वयं को लक्जरी लाईफ स्टाईल मैटेंन करने के लिये रूपयो की आवश्यकता को पुरा करने एवं धनी होने के लिए मांगी फिरोती
Bap News: जोधपुर जिले की मतोड़ा पुलिस ने अपहरण कर 20 लाख की फिरोती मांगने व नहीं देने पर अपहृत को मारने की धमकी देने के मामले का 10 घंटे में पर्दाफास कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। 

जिला पुलिस अधीक्षक जोधपुर (ग्रामीण) राहुल बारहट ने बताया कि मंगलवार को संतोष डागा निवासी पुनासर ने पुलिस थाना मतोड़ा पर सूचना दी की उसके व्हाट्सएप पर अज्ञात नम्बरों से कॉल एवं मैसेज करके धमकी दी कि, उसके इकलौते पुत्र की जान की सलामती चाहते हो तो पैसे लेकर आ जाना। आरोपी ने स्वयं को 007 गैंग का सदस्य बताया। उक्त सूचना पर पुलिस थाना थानाधिकारी नेमाराम ईनाणिया ने तुरन्त ही उच्चाधिकारियों को इस बारे में सूचित किया।

उच्चाधिकारियों के निर्देश पर मतोड़ा पुलिस ने व्यापारी के घर पर सुरक्षा व्यवस्था हेतु हथियारबंद गार्ड तैनात कर दिया। मतोड़ा थानाधिकारी नेमाराम ईनाणिया एवं देवाराम विश्नोई जिला विशेष टीम (डी0एस0टी0) जोधपुर ग्रामीण को समस्त पहलुओं पर जांच कर घटना का शीघ्र पर्दाफाश करने के एसपी ने निर्देश दिए। 


साईबर सेल एवं थानाधिकारी मतोड़ा ने उक्त उद्धापन कर
फिरोती मांग करने की घटना में सामने आये समस्त साक्ष्यों का गहनता से विश्लेषण करने पर हुकमाराम पुत्र रामुराम जाट निवासी जाणियों की ढाणिया पुनासर द्वारा उक्त वारदात करना सामने आया। 


हुकमाराम की संदिग्ध भूमिका सामने आने पर पुलिस ने उसे दस्तयाब कर गहनता से पूछताछ की। जिस पर उसने व्यापारी संतोष डागा से उद्धापन कर फिरोती मांगना स्वीकार कर लिया। आरोपी ने हुकमाराम जाट ने पूछताछ में बताया कि वह पुनासर आईसीआईसीआई बैंक में कस्टमर कांउसलर लगा हुआ है। संतोष डागा की दूकान बैंक के सामने ही है। स्वयं को लक्जरी लाईफ स्टाईल मैटेंन करने के लिये रूपयो की आवश्यकता को पुरा करने एवं धनी होने के लिये फिरोती की मांग की।

घटना का 10 घंटे में पर्दाफास करने में नरेन्द्र पुनिया प्रभारी
डीएसटी जोधपुर ग्रामीण,  नेमाराम उनि थानाधिकारी मतोडा, देवाराम विश्नोई साईबर सेल (डीएसटी) जोधपुर ग्रामीण एवं थाना मतोड़ा के मांगीलाल, चुतरसिंह, लालाराम जयपाल, रामनिवास, मुकनसिह,  लिखमाराम, हनुमानराम सियोल एवं भागीरथ की मुख्य भुमिका रही है। 
जिला पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण द्वारा उक्त टीम को पुरूस्कृत किया जायेगा।



No comments