Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

भारतीय प्राकृतिक पद्धति से जैविक खेती प्रारम्भ करने का आह्वान

बाप न्यूज़ | स्वदेशी जागरण मंच, गायत्री परिवार, विश्व हिन्दू परिषद, भारतीय किसान संघ, पर्यावरण संरक्षण एवं गो संवर्धन सहित अन्य कई संगठनों के...



बाप न्यूज़ | स्वदेशी जागरण मंच, गायत्री परिवार, विश्व हिन्दू परिषद, भारतीय किसान संघ, पर्यावरण संरक्षण एवं गो संवर्धन सहित अन्य कई संगठनों के माध्यम से चल रहे भूमि सुपाेषण एवं सरक्षण अभियान के तहत मंगलवार को बाप कस्बा स्थित ऋषि गोपाल गोशाला में भूमि पूजन का कार्यक्रम किया गया।  खंड पर्यावरण संयोजक रेखचंद पालीवाल ने बताया की कार्यक्रम में 30 से अधिक किसानों व पर्यावरण प्रेमियों ने भाग लिया। कार्यक्रम में किसानों द्वारा अपने खेतों से लाई गई पवित्र मिट्टी की यज्ञाचार्य लालचंद खत्री ने पूजा करवाई। 

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता रेखचंद पालीवाल ने कहा कि रसायनिक खेती से धरती बंजर हो रही है। किसान मित्र कीट, पतंग व अनेक प्रजातियों के जानवर, पंखेरू इसके उपयोग से नष्ट हो रहे है। पालीवाल ने कहा कि 1960 के दशक में खेती में नया मोड़ आया और गोबर, गो मूत्र के स्थान पर आधुनिक रसायनिक खादो ने ले लिया। आज यह रसायन स्वास्थ्य व पर्यावरण के लिए सबसे बडी चुनौती बन गया है। रसायन युक्त खेती मानव जीवन के साथ धरती के सभी जीवों के लिए नुकसानदायक है। उन्होने कहा कि हमारे पूर्वज खेती कमाई के लिए नही करते थे। न ही अधिक उत्पादन उनका लक्षय रहा। धरती की उर्वरता कायम रहे, इसके लिए गाय का गोबर ,गो मूत्र, फसलों के अवशेष आदि का सहारा लेते थे। उन्होंने उपस्थित किसानों से वापिस भारतीय प्राकृतिक पद्धति से जैविक खेती प्रारम्भ करने का आह्वान किया। 

पालीवाल ने कहा कि भूमि सुपोषण एवं संरक्षण का राष्ट्रव्यापी अभियान पिछले 4 वर्ष से चल रहा है। किसान इससे जुड़कर इस अभियान को सफल बनावे।  इस दौरान मनसुख पालीवाल, बाबूलाल, रामचन्द्र छताणी, अशोक चांडक,  प्रेम पालीवाल, मोहनलाल, मूलसिंह मोडरडी, विहिप के हीरालाल पालीवल, मदनशर्मा, जगदीश शर्मा, जयप्रकाश व्यास, उमेश पालीवाल, अखेराज आदि उपस्थित थे।

No comments