Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

'पूरा काम पूरा दाम' अभियान क्रियान्वंयन की विभिन्न सामाजिक संगठनों प्रतिभागियो के साथ जयपुर में हुई कार्यशाला

बाप न्यूज़ | इन्द्रा गांधी पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास संस्थान जयपुर के सभागार (आडोटोरियम) में मनरेगा संवाद एवं बैठक शासन सचिव ग्रामीण विका...



बाप न्यूज़ | इन्द्रा गांधी पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास संस्थान जयपुर के सभागार (आडोटोरियम) में मनरेगा संवाद एवं बैठक शासन सचिव ग्रामीण विकास एवं आयुक्त ईजीएस आयुक्त पीसी किशन, परियोजना निदेशक एवं संयुक्त शासन सचिव बलदेव प्रसाद तथा प्रदेश के अभीषाशी अभियंताओ तथा विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिभागियों के साथ "पूरा काम पूरा दाम" अभियान क्रियान्वयंन प्रतिभागियों के प्रतिक्रिया एवं सुझावों पर विचार-विमर्श के लिए कार्यशाला एवं बैठक का आयोजित हुआ। 

कार्यशाला में प्रदेश के सभी जिलों से आऐ प्रतिभागियों ने नरेगा योजना पर अपने सुझाव, समस्याएं नरेगा आयुक्त पीसी किशन से सवाल किए जिसमे आयुक्त ने सरल भाषा में समाधान के लिए गाईड लाईन के अनुसार जबाब दिए। मनरेगा  आयुक्त ने दिए आवश्यक निर्देश : गाइड लाइन के अनुसार सभी अभिशाषी अभियंताओं को प्रपत्र-6 आवेदक को आवेदन रसीद देने, ज्यादा से ज्यादा काम स्वीकृत करने, मैट एससी-एसटी, महिलाओ 50 प्रतिशत लगाने, दिव्यांगों को प्राथमिकता देने, मैट प्रोग्राम आँफिसर के निगरानी के अनुसार लगाने, लापरवाही व शिकायत की भैतिक सत्यापन के बाद मेट को तुरंत ब्लैक लिस्टेड करना, समय-समय पर मैट को बेहतर तथा कच्चे तथा पक्के दोनो कार्यों की ट्रेनिंग देने, मैट को रोटेशन से लगाना, मैट का चयन मजदूर अपनी मर्जी कर सकते है, काम मेजरमेंट नपती से होना, नपती के आधार पर श्रमिकों को जानकारी होनी चाहिए मजदूरी कितनी आएगी, काम जल्दी करके श्रमिक घर जा सकता है। काम खत्म होने पर नरेगा निर्धारित समय मैट कार्यस्थल या पंचायत में रहेगा, गाइडलाइन के अनुसार जेटीओ कार्य शुरू होने के 7 व 10 दिन में निरीक्षण 2 बार करना आवश्यक है, स्टेट की टीम भी विजिट करने, सभी पंचायत समिति के बीडीओ अभीषाशी अभियंता तथा पूरा दाम पूरा काम के प्रतिभागी मिलकर नरेगा योजना को शशक्त करने आदि आवश्यक दिशा-निर्देश आयुक्त ईजीएस पीसी किशन ने दिए। 

कार्यशाला में प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता पूर्व आईएएस अधिकारी निखिल डे, के राजू ने भी अपने विचार नरेगा को शशक्त करने पर व्यक्त किये। आगामी कार्यशाला एवं बैठक 1 माह बाद तय की गई है। कार्यशाला में जिला परिषद् जोधपुर के अभीषाशी अभियंता नरेगा बोहरा, जोधपुर जिले के सामाजिक जन-संगठन के कार्यकर्ता गणपत भाट, मधुलिका, एमकेएसएस के शंकरसिंह, आस्था संस्थान उदयपुर के गोरधन यादव, पारस बणजारा, कोरो इंडिया संस्थान सभांग उदयपुर आरसी हरलाल बैरवा, साहब सिंह अलवर, इन्द्रमल, उगनंता, रामलाल सहित प्रदेश के दर्जनों सामाजिक जन संगठनों के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

No comments