Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग,आईजी एवं एसपी को भेजा ज्ञापन

Bap New s: (अशोक कुमार मेघवाल) फलोदी उपखंड क्षेत्र के निकटवर्ती ग्राम पंचायत मुख्यालय बावड़ी कल्ला में मई-2020 में दलित समुदाय के लोगों ...

Bap News: (अशोक कुमार मेघवाल)
फलोदी उपखंड क्षेत्र के निकटवर्ती ग्राम पंचायत मुख्यालय बावड़ी कल्ला में मई-2020 में दलित समुदाय के लोगों के साथ लगातार घटित हुये जानलेवा हमले एवं अन्याय-अत्याचार के मामलों में मुख्य षंडयत्रकर्ता बावड़ी कल्ला सरपंच भैरूसिंह राजपुरोहित सहित अन्य सभी आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर शनिवार को दलित अधिकार अभियान फलोदी के उपाध्यक्ष संतोष कुमार लखन के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने पुलिस महानिरीक्षक जोधपुर रेंज एवं पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण के नाम का ज्ञापन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक फलोदी दीपक कुमार शर्मा एवं फलोदी थानाधिकारी लक्ष्मणसिंह जाखड़ को सौंपा।

प्रतिनिधिमंडल में समता सैनिक दल राजस्थान के प्रदेश महासचिव एडवोकेट गोरधन जयपाल, दलित अधिकार अभियान फलोदी के सचिव अशोक कुमार मेघवाल, समता सैनिक दल फलोदी के अध्यक्ष चंदन कुमार, श्रवण कुमार, जगदीश लीलड़, श्रवण कुमार लीलड़, देऊराम मेघवाल सहित अन्य कई गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। आईजी एवं एसपी को भेजे ज्ञापन में बताया कि गया की इस मामलें में ढाई माह बाद भी मुख्य षंडयत्रकर्ता बावड़ी कल्ला सरपंच भैरूसिंह तथा नामजद अन्य आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नही किया गया है। 
पीड़ित पक्ष ने आईजी तथा एसपी जोधपुर ग्रामीण के आश्वासन पर पुलिस थाने के आगे चल रहे अनिश्चितकालीन धरने को 3 जून को स्थगित कर दियाथा। लेकिन डेढ माह बाद भी मुख्य षंडयत्रकर्ता बावड़ी कल्ला सरपंच भैरूसिंह सहित अन्य आरोपियों को अभी तक गिरफ्तार नही किया गया है। 
जिसके चलते दलित समुदाय में आक्रोश व्याप्त है।ज्ञापन में बताया गया की अगर जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार नही किया गया तो पुलिस थाने के आगे फिर से अनिश्चितकालीन धरना शुरु किया जायेगा, जिसकी समस्त जिम्मेदारी पुलिस प्रशासन की होगी। ज्ञापन में कहा गया कि दलित समुदाय पर सभी हमलों का मास्टर माइंड सरपंच भैरूसिंह राजपुरोहित है, इसलिए भैरूसिंह राजपुरोहित सहित अन्य सभी आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाना जरूरी है। प्रतिनिधिमंडल ने सरपंच भैरूसिंह द्वारा फैलाई जा रही निरर्थक बातों की कड़ी आलोचना करते हुये इसे गिरफ्तारी से बचने का फंडा बताया। 

No comments