Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

भाजपा सरकार के समय मर्ज हुई स्कूलों को शुरू करने में फलोदी विधानसभा क्षेत्र के साथ हो रहा भेदभाव

शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) ने विद्यालयों को पुन: शुरू करने की उठाई मांग, फलोदी  तथा बाप ब्लाॅक की स्कूलों को एकीकरण से मुक्त करने की भी मांग, ज...

शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) ने विद्यालयों को पुन: शुरू करने की उठाई मांग, फलोदी तथा बाप ब्लाॅक की स्कूलों को एकीकरण से मुक्त करने की भी मांग, जन आंदोलन की चेतावनी

Bap News: (अशोक कुमार मेघवाल )
राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय जिला शाखा फलोदी के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार व्यास ने गुरुवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री तथा शिक्षा विभाग के प्रमुख शासन सचिव को ज्ञापन भेजकर भाजपा सरकार के समय एकीकरण के नाम पर मर्ज किये गये विद्यालयों को पुनः शुरू करने में कांग्रेस सरकार द्वारा फलोदी विधानसभा क्षेत्र के साथ भेदभाव किये जाने की कड़ी निंदा करते हुये फलोदी ब्लाॅक के 16 तथा बाप ब्लाॅक के 60 विद्यालयों को पुनः शुरू करने की मांग की है।
जिलाध्यक्ष अरुण कुमार व्यास
जिलाध्यक्ष व्यास ने बताया कि पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने कम नामांकन कम और कम दूरी की प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों को नजदीकी सीनियर उच्च माध्यमिक विद्यालयों में मर्ज कर बन्द कर दिया था। जिसके कारण सरकारी भवन असामाजिक तत्वों के अड्डे बन गये थे। शिक्षक संघ राष्ट्रीय मर्ज हुये इन विद्यालयों को पुनः शुरू करने के राज्य सरकार के फैसले की सराहना करता है। लेकिन फलोदी विधानसभा क्षेत्र के साथ जो भेदभाव किया गया है वो निंदनीय है।वर्तमान सरकार में शिक्षा विभाग के निदेशक के आदेशानुसार इन स्कूलों को पुनः प्रारम्भ करने जी सूचना मांगी गई थी।
गत 22 जून को जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक जोधपुर ने आदेश जारी कर जोधपुर जिले की 104 मर्ज स्कूलों को इसी सत्र में प्रारम्भ करने के आदेश किये है। लेकिन बड़े खेद के साथ कहना पड़ता है कि इन 104 स्कूलों में से एक भी स्कूल फलोदी तथा बाप ब्लाॅक की नही है। व्यास ने कहा फलोदी के साथ इस राजनैतिक भेदभाव कि संगठन घोर निंदा करता है।
उन्होंने बताया कि सारी स्कूले उन्ही विधानसभा क्षेत्रों में शुरू की गई है जहां वर्तमान सरकार के जीते हुए प्रतिनिधि है। तो क्या अब शिक्षा में भी राजनीति चलेगी ? फलोदी ब्लाॅक की 16 और बाप ब्लाॅक की 60 प्राथमिक, उच्च प्राथमिक एवं बालिका स्कूलों को मर्ज किया गया था। संगठन राज्य सरकार से मांग करता है, कि शिक्षा में राजनीति न करते हुए फलोदी तथा बाप ब्लाॅक की स्कूलों को भी एकीकरण से मुक्त किया जाये अन्यथा इसको जन आंदोलन बना कर फलोदी क्षेत्र में बड़ा आंदोलन किया जायेगा। जिसकी समस्त जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी।
इनका कहना है:-
ग्रामीणों द्वारा इस संबंध में कुछ प्रार्थना पत्र मुझे प्राप्त हुये थे,जो मुख्यमंत्री तथा शिक्षा मंत्री को भिजवाये हुये है। संभावना है कि अगली सूची में नाम शामिल किये जायेगें।महेश व्यास, कांग्रेस प्रत्याक्षी - विधानसभा चुनाव 2018 फलोदी।

No comments