Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

नहर के लगातार ओवरफ्लो होने से किसानों को हो रहा है नुकसान

Bap News :  उपखंड क्षेत्र की निकटवर्ती ग्राम पंचायत लोर्डियां में से गुजरने वाली राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल आये दिन ओवरफ्लो हो रही है, जिससे...


Bap News : उपखंड क्षेत्र की निकटवर्ती ग्राम पंचायत लोर्डियां में से गुजरने वाली राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल आये दिन ओवरफ्लो हो रही है, जिससे नहर के आस-पास के खेतो में खेती करने वाले किसानों को लाखो- करोड़ो रुपये का आर्थिक नुकसान हो रहा है। अत्यधिक पानी जमाव से खेत भी खराब हो रहे है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार से नहर का पानी लगातार ओवरफ्लो होकर नहर के आस-पास खेतों में जाकर जमा हो रहा है। जिससे किसानों  के खेतों में पककर तैयार पड़ी रायड़ा, जीरा तथा प्याज की फसलों को भारी नुकसान हो रहा है। पीड़ित किसान लोर्डियां निवासी पुरुषोत्तम रंगा, राजूजी, दीपचंद रंगा आदि ने बताया की पिछले लंबे समय से नहर ओवरफ्लो होने की समस्या चल रही है। लेकिन विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण इसका समाधान नही हो पा रहा है। जिसका खामियाजा किसानों को लगातार भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि एक सप्ताह पूर्व अतिरिक्त जिला कलक्टर फलोदी हाकम खान, फलोदी तहसीलदार निरभाराम कोडेचा, कनिष्ठ अभियंता मोतीलाल, पटवारी ओमप्रकाश आदि ने मौके पर पहुंचकर खेतो का जायजा लिया था। 

तब एडीएम खान ने संबधित विभाग को पत्र लिखकर ओवरफ्लो पानी की समस्या का स्थाई समाधान करने के लिये एक विस्तृत योजना बनाकर किसानों को राहत देने के निर्देश दिये थे। ताकि पानी की बर्बादी भी रूके तथा खेतों में भी नुकसान ना हो। लोर्डियां गांव के ही  जागरूक नागरिक पुरुषोत्तम रंगा, उदयकिशन रंगा, दीपचंद रंगा, रविंद्र व्यास, सत्यनारायण रंगा, सुरेश रंगा जितेंद्र जोशी तथा जितेंद्र रंगा आदि ने प्रदेश के मुख्यमंत्री, जलदाय विभाग मंत्री, संभागीय आयुक्त तथा जिला कलक्टर जोधपुर को पत्र भेजकर किसानों को खराब हुई फसलों का वास्तविक मुआवना देने तथा इस समस्या का स्थाई समाधान करने की मांग की है।

ग्रामीणों ने बताया कि पहले दो बार टिड्डी हमला, बैमौसम बारिश के चलते किसानों की माली हालत बहुत ही खराब हो रखी है। ऐसे में नहर के ओवरफ्लो पानी से फसलें तथा नहर के किनारे स्थित खेत खराब होने के पीड़ित किसानों की कमर टूट गई है।

Bap News के लिए अशोक मेघवाल, फलोदी की रिपोर्ट)

No comments