Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

झूंझूनू में फंसे 500 चरवाहों व 14 हजार भेड़ो को मुक्त करा लाया गया वापिस

सभी फलोदी विधानसभा क्षेत्र के गांवो के है चरवाहे व भेड़पालक, हर साल भेड़ो को चराने के लिए जाते है पंजाब व हरियाणा, चरवाहो के साथ हुई मार...



सभी फलोदी विधानसभा क्षेत्र के गांवो के है चरवाहे व भेड़पालक, हर साल भेड़ो को चराने के लिए जाते है पंजाब व हरियाणा, चरवाहो के साथ हुई मारपीट

Bap News: बाप कस्बे सहित आसपास के सैकड़ो भेड़पालक अपनी भेड़ो को चराने के लिए पंजाब व हरियाणा राज्यों में जाते है। लेकिन इस बार वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए देश भर में लाॅक डाउन लग गया। जिससे जो जंहा था वही अटक गए। लॉक डाउन में यहां के सैकड़ो भेड़ पालक भी हरियाणा प्रांत में हजारो भेड़ो के साथ अटक गई। भेड़पालकों सहित भेड़ो को बाप ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मेहबूब खान ने प्रयास कर प्रशासन के सहयोग से उन्हे वापिस यहंा लेकर आ गए है। करीब 60 ट्रकों का काफिला देर रात बाप व आसपास के गांवो में पहुंच जाएगा।

बाप ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मेहबूब खान ने बताया कि लॉक डाउन के बाद हरियाणा सरकार ने फलोदी विधानसभा क्षेत्र के करीब 500 भेड़ पालकों व उनकी भेड़ो को राजस्थान की सीमा में भेज दिया। इन सभी चरवाहों की कुल भेड़े करीब 14000 हजार बताई जा रही हैं। उन्होने बताया कि हरियाणा से आने के बाद सभी चरवाहे झूंझूनू जिला क्षेत्र के गांवो के आसपास में भेड़ो सहित ठहरे हुए थे। वंहा के लोगाे ने चरवाहों के साथ मारपीट भी की।

भेड़ो को ट्रकों में भरते हुए।


उनकी पीड़ा की जानकारी मिलने पर उन्होने बाप उपखंड अधिकारी महावीरसिंह को इसकी सूचना देकर उन्हे वापिस लाने के लिए कहा। कमेटी अध्यक्ष मेहबूब खान ने बताया कि उन्होने इस संबध में राजस्व मंत्री हरिश चाैधरी व केबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद से भी वार्ता की तथा वंहा फंसे भेड़ चरवाहों को वापिस लाने की मांग की। राज्य सरकार के मंत्रियों की वार्ता के बाद जोधपुर व झंूझूनू जिला प्रशासन ने इसको लेकर प्रयास शुरू कर दिए। बाप उपखंड अधिकारी िसंह ने जिला घंटियाली नायब तहसीलदार रमजान खान को नोडल अधिकारी बनाकर वंहा के लिए रवाना कर दिया। नायब तहसीलदार के साथ बाप ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष मेहबूब खान, एडवोकेट मोहम्मद खान के साथ झूंझूनू के लिए रवाना हो गए। खान ने बताया कि सोमवार देर रात वे पहुंचेंगे। सभी चरवाहों व भेड़ पालकों को संबधित वेलनेस सेंटरों पर रखा जाएगा।
-------------------------------

No comments