Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

किसानों के अरमानों को ले उड़ी आंधी, अंधड़ से कई पेड़ व खंभे भी गिरे

आधी रात से सुबह तक अंधेरे में रहा बाप कस्बा, किसानो ने उठाई सर्वे की मांग बाप न्यूज़ |  बाप कस्बे सहित समूचे इलाके में रविवार देर रात 1 बजे आ...

आधी रात से सुबह तक अंधेरे में रहा बाप कस्बा, किसानो ने उठाई सर्वे की मांग

बाप न्यूज़ |  बाप कस्बे सहित समूचे इलाके में रविवार देर रात 1 बजे आये तेज अंधड़ से जन जीवन बुरी तरह से प्रभावित हुआ। आंधी से सबसे ज्यादा नुकसान किसानों को हुआ। खेतों में काट रखी फसलें उड़ गई। इसमें जीरा व इसबगोल की फसल में सबसे ज्यादा नुकसान देखने को मिला है। किसानो की मेहनत आंधी से बिखर चुकी थी। 

धुल भरी आंधी से जन जीवन काफी प्रभावित हुआ। रेत इतनी ज्यादा थी कि सांस लेना भी दुभर हो रहा था। बिजली गुल होने के बाद लोगो की परेशानी ओर बढ़ गई थी। रात भर कस्बा अंधेरे में रहा। अंधड़ से घरों व प्रतिष्ठानो में रेत की मोटी परत जमा हो गई। सुबह होते हो लोग सफाई में जुटे नजर आए। आमजन की सुबह की दिनचर्या भी काफी प्रभावित हो गई थी। अंधड़ से पेड़ पौधे उखड़ने के साथ बड़ी संख्या में विद्युत पाेल भी गिरे है। नमक उत्पादन क्षेत्र रिण में ट्रांसफार्मर भी गिर गए। दर्जनो पोल गिरने से विद्युत व्यवस्था भी लड़खड़ा गई थी। सोमवार दिनभर आसमान में गर्द छाई रही।

किसानो ने सौंपा एसडीएम को ज्ञापन


शेखासर, भींमजी का गांव, केसरपुरा, रमजानपुरा, रावरा, राणेरी, कानासर,खीरवा, आदि गांवो में तेज आंधी आने के कारण फसलों में काफी नुकसान हुआ है। किसान उगमसिंह, भगत सिंह, राजूसिंह, रूपसिंह, हीरसिंह, जसवंत सिंह, हुकुमसिंह, सलीम खान, कासम खान, प्रेम सिंह आदि ने बताया कि ईसबगोल व जीरा झड़ गया है। काट रखी फसल आंधी में उड़ गई। किसानों को जबरदस्त आर्थिक नुकसान हुआ है। चौखाणियों की ढाणी, मिश्रियाें की ढाणी व मदरूपनगर के किसानों ने उपखंड अधिकारी को ज्ञापन सौंप कर बताया कि रायड़ा, ईसबगोल की फसले आंधी व बरसात से खराब हो गई है। किसानों ने सर्वे करवाकर खराबे का मुआवजा दिलाने की मांग की है। ज्ञापन सौंपते समय मांगीलाल, मनोहरराम, छाेटूराम, भगवानाराम, बागाराम, रामरख सहित कई किसान मौजुद थे। 



No comments