Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

विद्यार्थियों के बगैर शिक्षक विद्यालयों में जाकर क्या करे - व्यास

Bap New s:   ( अशोक कुमार मेघवाल ) राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय जिला शाखा फलोदी के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार व्यास ने गुरूवार को प्रदेश के...

Bap News: (अशोक कुमार मेघवाल)
राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय जिला शाखा फलोदी के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार व्यास ने गुरूवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तथा शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को ज्ञापन भेजकर ज्ञापन भेजकर कोविड-19 के चलते प्रदेश के सभी विधालयों में विद्यार्थियों  के लिये अवकाश 31 जुलाई तक बढाने के कदम को विधार्थियों के हित में बताते हुये कहा कि इससे विद्यार्थी कोरोना संक्रमण से मुक्त रहेगें।

व्यास ने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षकों को लिये विधालय जाने का जो आदेश जारी किया है वो अव्यवहारिक है। शिक्षकों का मुख्य काम है विद्यार्थियों को पढा़ना। जब विद्यालयों में विद्यार्थी ही नहीं है तो शिक्षक स्कूल में जाकर आखिर करें क्या ?
व्यास ने बताया कि राज्य सरकार ने इससे पूर्व रिजल्ट तैयार करने हेतु शिक्षको के लिये 24 जून से स्कूल आने के आदेश दिये थे। जिसके चलते सभी शिक्षक 24 से जून से लगातार स्कूल जा रहे है। स्कूलों में अभी कोई कार्य नही है इंतजार था कि 1 जुलाई से शायद स्कूल  खुलेगें। पर केंद्र सरकार की गाइड लाइन में 31जुलाई तक सभी स्कूल कॉलेज बंद रखने के निर्देश है। लेकिन राज्य में शिक्षा विभाग के निदेशक ने एक आदेश जारी कर कहा है कि विद्यार्थी चाहे आये या ना आये पर शिक्षको को प्रतिदिन समय पर स्कूल में आना होगा। यह आदेश शिक्षकों पर अत्याचार से कम नही। 
शिक्षक का कर्तव्य है विधार्थियों को पढ़ाना है पर जब स्कूल में विद्यार्थी ही नही है तो पूरे दिन इस भीषण गर्मी में बिना काम स्कूल में शिक्षक क्या करे। व्यास ने कहा कि अगर सरकार ने 31 जुलाई तक शिक्षकों को भी विधालयों में उपस्थिति देने में राहत प्रदान नही की तो राजस्थान शिक्षक संघ राष्ट्रीय को आंदोलन के लिये मजबूर होना पड़ेगा।

No comments