Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT


 

विद्युत कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर सौंपा मांग पत्र

Bap New s:  फलोदी उपखंड मुख्यालय भारतीय मजदूर संघ से जुड़े डिस्काॅम के कर्मचारियों ने अपनी विभिन्न मांगो को लेकर उच्चाधिकारियों के नाम का ज्ञ...


Bap News: फलोदी उपखंड मुख्यालय भारतीय मजदूर संघ से जुड़े डिस्काॅम के कर्मचारियों ने अपनी विभिन्न मांगो को लेकर उच्चाधिकारियों के नाम का ज्ञापन फलोदी में पदस्थापित अधिकारियों को सौंपा। जोधपुर विधुत वितरण निगम श्रमिक संघ जिलावर्त के जिलाध्यक्ष करण सिंह राजपुरोहित ने बताया कि जोधपुर डिस्कॉम श्रमिक संघ ने पूर्व में अनेको ज्ञापन डिस्कॉम प्रबंधन को दिये है, लेकिन किसी तरह का कोई संज्ञान नही लिया है। डिस्काॅम कर्मचारियों की समस्याओं को नजर अन्दाज किया जा रहा है। जिससे निगम में कार्यरत कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है। कर्मचारियों का वेतन मार्च-2020 में कर्मचारियों एवं संगठन की अनुमति के बगैर काटा गया है, जबकि राजस्थान विद्युत प्रसारण निगम में किसी भी कर्मचारी तथा अधिकारी का वेतन नही काटा गया है।
केवल विद्युत वितरण में ही काटा गया है, जो न्याय संगत नही है। इसलिये काटा गया वेतन वापस दिया जाये। जोधपुर डिस्कॉम में अनुकंपा के आधार पर हेल्पर के पद पर कार्यरत कर्मचारियों की नियुक्ति के समय उच्च माध्यमिक की परीक्षा उतीर्ण थी उन्हें भी नई व्यवस्था में बदली गई शैक्षणिक व्यवस्था का लाभ दिलाते हुए कनिष्ठ लिपिक पद पर नियुक्ति देने, टेक्निकल हैल्पर के नये  कैडर में विकल्प देकर पुराने तकनीकी संवर्ग के पुराने कैडर का विकल्प भरने वाले टेक्निकल हेल्पर को पुराने कैडर की पदोन्नतियां की जाये ताकि पुराने कैडर का विकल्प देने वाले टेक्निकल हैल्पर को भी पदोन्नति का लाभ मिल सके। वर्तमान व्यवस्था के अनुसार टेक्निकल हैल्पर के भविष्य में प्रमोशन के कोई आसार नही है। नई टेक्निकल कैडर का विकल्प देने वाले कर्मचारियों द्वारा तीन, बारह, इक्कीस तथा तीस वर्ष की सेवा पूर्ण करने पर कार्यभार ग्रहण करने की तिथि से पदोन्नति दी जावे वर्तमान में सेवा पूर्ण करने के वर्ष के बाद आगामी 1 अप्रैल से पदोन्नति की जा रही है जो न्याय संगत नही है। 
ऊर्जा विभाग सरकार के आदेश के तहत वर्ष 2017 एवं 2018 एवं 2018 एवं 2019 में घाटा कम करने की एवज में देय प्रोत्साहन राशि इंसेंटिव का भुगतान जोधपुर डिस्कॉम ने आज तक नही  किया है, जबकि राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड तथा जयपुर विद्युत वितरण निगम द्वारा उक्त प्रोसाहन राशि का भुगतान कर दिया है। इसलिये पूर्व की बकाया प्रोत्साहन राशि का भुगतान तत्काल कराया जावे। तकनीकी संवर्ग की पदोन्नति में डिप्लोमा एवं डिग्रीधारी कर्मचारियों के लिये रिक्त रखे गए 20 प्रतिशत पदों पर तत्काल पदोन्नत करके रिक्त पदों को भरा जाये। स्थाई प्रकृति के कार्य निजी कंपनियों को ठेके पर नही देकर निगम के उपलब्ध स्टाफ के माध्यम से करवाने, दूर दराज तथा दुर्गम क्षेत्रो में कार्य करने वाले टेक्निकल हैल्पर सूचना के अभाव में रिडेजिग्नेशन में  अपना विकल्प नही दे सके थे।
 ऐसे सभी टेक्निकल हैल्पर को विकल्प देने के लिये एक और अवसर प्रदान करने, मूलभूत सुविधाओं से वंचित 33 केवी जीएसएस पर सुविधाओं का विस्तार करने, फील्ड में कार्य करने वाले तकनीकी कर्मचारियों को ड्यूटी भत्ता 5 हजार रुपये प्रति माह स्वीकृत करने, फिडर इंचार्ज के काल्पनिक पदनाम को समाप्त करने, अन्य संगठनों के द्वारा द्वेष भावना के वशीभूत होकर केवल प्रताड़ित करने के उद्देश्य से करवाये गये स्थानांतरण आदेशों को तत्काल प्रभाव से निरस्त करने, अधिक समय कार्य करने वाले तकनीकी कामगारों को अधिक समय भत्ता ओवर टाइम देने, निगम कार्यालय द्वारा प्रत्येक खंड कार्यालय स्तर पर ट्रॉली माउंटेड क्रेन वाहन चालक तथा क्रेन ऑपरेटर के ठेके पर लगाये गये है। 
उक्त वाहन पूर्णयता अनुपयोगी है उक्त वाहन के द्वारा वित्तीय वर्ष 2019-20 में एक भी वितरण ट्रांसफार्मर बदलने का कार्य नही किया गया है। इससे इसके औचित्य पर ही प्रश्न चिन्ह लग गया है इसके लिये प्रति माह निगम कार्यालय द्वारा अकारण भुगतान किया जा रहा है। उक्त गोरख धंधे को तत्काल बंद करने, उपखंड स्तर पर एक ट्रैक्टर ट्रॉली अथवा बोलेरो कैंपर निगम की निर्धारित दर पर किराये पर रखने की व्यवस्था करने ताकि निगम को हो रही आर्थिक क्षति से बचाने की मांगे प्रमुख है। इस अवसर पर कैलाश विश्नोई, विनोद थानवी, नेताराम माली, वासुदेव मेघवाल, नारायण मेघवाल, अमृताराम मेघवाल, धर्मेन्द्र चौहान, महेश पंवार आदि उपस्थित थे।

फलोदी से अशोक कुमार मेघवाल की रिपोर्ट

No comments