Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT


 

डाटा एंट्री ऑपरेटर को एक साल से नहीं मिल रहा मानदेय

Bap New s:    कस्बा स्थित उपखंड अधिकारी कार्यालय में कार्यरत डाटा एंट्री ऑपरेटर को एक साल से मानदेय नहीं दिया जा रहा हैं। मानदेय के अभाव मे...

Bap News:  कस्बा स्थित उपखंड अधिकारी कार्यालय में कार्यरत डाटा एंट्री ऑपरेटर को एक साल से मानदेय नहीं दिया जा रहा हैं। मानदेय के अभाव में उसके आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, साथ ही कोरोना महामारी में भी घर चलाना मुश्किल हो गया हैं।
श्याम सुंदर राजपुरोहित 
ऑपरेटर ने इस संबध में जिला कलेक्टर को पत्र प्रेषित कर बकाया मानदेय दिलाने की मांग की हैं। डाटा एंट्री ऑपरेटर श्यामसुन्दर राजपुरोहित ने कलेक्टर को भेजे पत्र में बताया कि वह पंचायत समिति बाप में कार्यरत हैं। पंचायत पुर्नगठन कार्यों में कार्य की अधिकता को देखते हुए एक साल पहले उसे उपखंड अधिकारी कार्यालय में लगा दिया। तब से वह उपखंड अधिकारी कार्यालय में ही कार्यरत हैं। उसने बताया कि उसने पूर्ण जिम्मेदारी से पंचायत पुर्नगठन का कार्य किया तथा बाद में पंचायत चुनाव 2020 की पूर्व तैयारी में तत्परता से कार्य किया। वर्तमान में कोविड-19 जैसी वैश्विक महामारी में भी कार्य कर रहा हैं। लेकिन उसे मई 2019 से मानदेय नहीं दिया जा रहा हैं। पहले उसे मानदेय का भुगतान पंचायत समिति कार्यालय से ही मिलता था, लेकिन अब विकास अधिकारी कह रहे है कि उसे उपखंड अधिकारी कार्यालय से ही मानदेय मिलेगा।
 पत्र में लिखा कि िवकास अधिकारी धनदान देथा के आने के बाद से उसका मानदेय का भुगतान अटका दिया गया हैं। उपखंड अधिकारी भी उसकी मांग को अनसुना कर रहे है। इसके अभाव में उसे आर्थिक परेशानी से जुझना पड़ रहा हैं। घर खर्च चलाना भी मुश्किल हो गा हैं।


पंचायत समिति में बकाया मानदेय की पेडेंसी नहीं हैं। श्यामसुंदर नाम का कोई आदमी कार्यरत नहीं हैं। अगर किसी एंजेसी के माध्यम से काम किया है, तथा उसका कोई बकाया है तो एजेंसी बकाया भुगतान का क्लेम करे।
धनदान देथा, विकास अधिकारी पंचायत समिति बाप।   

No comments