Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

मातृ दिवस : बच्चो ने कागज पर जीवंत की माँ की ममता

Bap New s:           मदर्स डे विशेष:  वैश्विक महामारी कोरोना के चलते आज स्कूलें बंद पड़ी है। किन्तु बच्चों की कलाकृति हुनर को कोरोना नही...

Bap News:          मदर्स डे विशेष: 
वैश्विक महामारी कोरोना के चलते आज स्कूलें बंद पड़ी है। किन्तु बच्चों की कलाकृति हुनर को कोरोना नहीं रोक सकता है ? 
बाप तहसील के ग्राम कलराबा बेरा निवासी स्कूली बच्चे करिश्मा पूनिया व राहुल पूनिया ने मदर्स डे पर अपनी भावनाओं को कूची से कागज पर उकेरा। बच्चों ने कागज पर माँ की ममता को जीवंत कर दिया। 
माँ के आंचल को जन्नत के रूप में चित्रण करते हुए माँ के ममत्व को अनमोल रत्न बताया है। 10 मई का दिन मदर्स डे जो सम्पूर्ण मातृ शक्ति को समर्पित एक महत्वपूर्ण दिवस है। इस श्रष्टि में असंख्य जीवों की उत्पत्ति हुई है। इसमें ममत्व, त्याग, समर्पण गुण की महानता को देखेंगे तो हर जुबां पर माँ ही शब्द आएगा। हर एक के जीवन मे माँ एक अनमोल होती है। जिसके बारे में शब्दों से बंया नहीं किया जा सकता है। माँ का विराट  ह्रदय एक पाठशाला है। ओर यही कारण है कि समूचे श्रष्टि में माँ से बढकर कोई इंसानी रिश्ता नही है। पर आज के तकनीकी युग की चकाचौंध के साथ स्वार्थी जीवन ने भारतीय संस्कृति व सभ्यता के संस्कार को बाधित कर दिया है। 
आज के युग में बुद्धिजीवी मानव प्राणी लोभ व लालसा से भरे जीवन में संस्कार व अतीत के पारिवारिक जीवन बंधन को भूल सा गया है। पर आज मदर्स डे पर इन स्कूली बच्चों की चित्रकला के जज्बे ने एक सन्देश दिया है कि, जन्मदाता को प्राणी कदापि भूल नहीं सकता। माँ भगवान से कम भी नहीं होती है। वही मन्दिर, वही पूजा ओर तीर्थ है।
 आऊ से रामदेव सजनाणी की रिपोर्ट

No comments