Page Nav

HIDE

Classic Header

Top Ad

Breaking News:

latest

ADVT

छह माह पहले हुई 13 लाख की ठगी के आरोप में तीन गिरफ्तार

किसान को कृषि की दवाइयां देने के बाद गेम खेलने का लालच देकर लुटे गए थे 13 लाख

किसान को कृषि की दवाइयां देने के बाद गेम खेलने का लालच देकर लुटे गए थे 13 लाख

Bap News: बाप पुलिस ने थाना क्षेत्र में 6 माह पूर्व किसान के साथ हुई 13 लाख की ठगी मामले में तीन जनो को गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने बाप क्षेत्र के एक किसान को लॉटरी के झांसे में लेकर उसे गेम खिलाने के बहाने लूट की थी। 

जिला पुलिस अधीक्षक जोधपुर (ग्रामीण) राहुल बारहट ने बताया कि अजेरी निवासी कासम खान पुत्र मवलु खान के साथ 7 जनवरी 2020 को बाप थाने में अपने साथ हुई 13 लाख की ठगी का मामला दर्ज करवाया था। 
बाप थानाधिकारी हरिसिंह राजपुरोहित मय जाप्ता पुलिस ने उक्त मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। ग्रामीण एसपी बारहठ ने बताया कि 14 जून को चन्द्रभान पुत्र वकीलसिंह जाति कापडिया उम्र 38 साल, निवासी 27 एएस घडसाना, जिला श्री गंगानगर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर पीसी रिमांड पर लिया गया। 
इसी मामले में 19 जून को नन्दराम पुत्र रूपाराम जाति नायक, उम्र 32 साल, निवासी 1 एमडी घडसाना,  जिला श्रीगंगानगर तथा समरजीत पुत्र बलदेवसिंह जाति रमदासिया, उम्र 30 साल, निवासी 87 जीबी, थाना अनुपगढ, जिला श्रीगंगानगर को गिरफ्तार किया गया है।
उन्होंने बताया कि इस तरह की वारदातों को अंजाम देने की यह बड़ी गैंग है। उक्त गैंग ने इस प्रकार की कई वारदातें की है। छतरगढ़ जिला बीकानेर में भी इसी प्रकार की वारदात कर रखी है। 
यह है मामला :- 
 07 जनवरी 2020 को कासम खां पुत्र मवलु खां जाति मुसलमान निवासी अजेरी बाप थाने में रिपोर्ट पेश कर बताया था कि कुछ दिनों पहले वह अपने घर में बैठा था। दोपहर को एक गाडी उसके घर के आगे आकर रुकी और उसमे से दो-तीन लोग थे। उसके पास आकर उन्होंने कहा कि वे खेती सम्बंधित दवाइयां बेचते है। उन्होंने 2 वर्ष पूर्व उसे भी खेती की दवाइयां देकर गए थे। उन्होंने कहा कि आज उनके साथ उनके मैनेजर भी है, जो उसके साथ गैम खेलेंगे। गैम खेलने से वह इनाम जीतेगा। पूछने पर उसने अपना नाम सुरेंद्र सिंह व सद्दाम बताया। उसके बाद वे उसे गाड़ी में बैठकर नाचना ले गए। वंहा पर उसे एक व्यक्ति से मिलाया गया। उस व्यक्ति ने उसे बताया कि वह 87 लाख जीत चुका है। साथ ही उसने कहा की वह 15 लाख दे तो उसे 87 लाख कुछ समय बाद दे देंगे। फिर उन लोगों ने उसे वापिस उसके घर छोड़ दिया। साथ ही कहा कि 15 लाख की व्यवस्था होते ही उनसे सम्पर्क कर ले। इसके बाद उसने गांव मे दो-तीन दिनो में कुछ व्यवस्था कर उन्हें सूचना दे दी। 
4 जनवरी को सुबह वह 13 लाख लेकर बाप आ गया। 
बाप में उसे वही दोनो व्यक्ति मिले और कहा कि बीकानेर चलेंगे। वंही पर रुपये देंगे। दियातरा में गाडी रोककर उसे एक अलग गाडी मे बैठा लिया। वे लोग बीकानेर से पहले टोल नाका वाली रोड की तरफ मुड़ गये और कानासर बाईपास के पास ले जाकर उसे गाडी से नीचे उतार दिया। और कहा की कितने रुपये लाये हो तब उसने कहा की 13 लाख रुपये लेकर आया हूं। फिर उसे वही पर गाड़ी से नीचे उतार कर वे 13 लाख रूपये लेकर भाग गये थे। 
कार्यवाही टीम :-  
थानाधिकारी हरिसिह राजपुरोहित, एएसआई रूघाराम, कांस्टेबल ओमप्रकाश, बलवीर सिंह, पुरखाराम कार्यवाही टीम में शामिल थे। टीम को पुलिस अधीक्षक जोधपुर (ग्रामीण) द्वारा पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

No comments